25 October 2008

ओबामा या मकेन

आजकल अमेरिका में चुनाव की वजह से बढ़ी रौनक है क्योंकि शायद अमेरिका में पहली बार एक अफ्रीकन अमेरिकन राष्ट्रपति बनेगा। करीब ४० वर्ष अफ्रीकन अमेरिकन लोग बस में सफ़ेद लोगों के साथ नही जा सकते थे और हिन्दुस्तानी अछूतों की तरह कोई तरक्की नहीं कर सकते थे। इसलिए राष्ट्रपति बन जन बहुत बढ़ी बात है।

तो मैंने सोचा की हिंदुस्तान में कुछ तो लोग सोच रहें होंगे अमेरिका के बारे में पर गालुप की रिसर्च से पता लग रहा है की भारत में तो किसी को कोई परवाह ही नहीं जबकि आजकल हिंदुस्तान इतना व्यापर अमेरिका के साथ करता है और जब अमेरिका और हिंदुस्तान ने अभी नुक्लेअर त्रेअटी दस्तखत की तो लोग बढे खुश थे।

इतनी कम रूचि क्यों? एसा लगता है की टेलिविज़न पर कोई ख़बर ही नहीं। एउरोपे, जापान और कोरिया में सब लोग ओबामा को चाहते हैं। में भी.

No comments: