01 November 2008

योग अमेरिका में

Photo of Donna Karanमेरे नानाजी आयुर्वेद के वैद्य थे, और धार्मिक भी; आख़िर हम लोग द्विवेदी हैंना। इसलिए योग में हमेशा रूचि थी। लेकिन जबसे अमेरिका आया तो अब सिर्फ़ में रोज सुबह दोधता हूँ treadmill पर। लेकिन अमेरिकन श्रीमतीजी को योग से बहुत प्यार है और अक्षर आसन बिछा के कसरत करती हैं।

हिंदुस्तान में तो योग ख़तम ही हो गया लगता है लेकिन अमेरिका के डिजाइनर दोन्ना कारन अब न्यू यार्क के बेथ इस्राइल हॉस्पिटल में एक योग केन्द्र खोल रहीं हैं। कोशिस ये है की कुछ बीमारिया दवाओं से नहीं पर योग और मश्तिस्क को परिवर्तन करने से दूर की जा सकती हैं.

2 comments:

संगीता पुरी said...

अच्‍छी कोशिश है।

उन्मुक्त said...

हिन्दी चिट्ठाजगत में स्वागत है। हिन्दी में ही लिखिये।

लगता है कि आप हिन्दी फीड एग्रगेटर के साथ पंजीकृत नहीं हैं यदि यह सच है तो उनके साथ अपने चिट्ठे को अवश्य पंजीकृत करा लें। बहुत से लोग आपके लेखों का आनन्द ले पायेंगे। हिन्दी फीड एग्रगेटर की सूची यहां है।

कृपया वर्ड वेरीफिकेशन हटा लें। यह न केवल मेरी उम्र के लोगों को तंग करता है पर लोगों को टिप्पणी करने से भी हतोत्साहित करता है। आप चाहें तो इसकी जगह कमेंट मॉडरेशन का विकल्प ले लें।